Your SEO optimized title

सड़क कि मांग पर दुसरे दिन तक धरना में बैठे रहे ग्रामीण

 

मोहनपुर : मूलभूत सुविधाओं का विस्तार हो या फिर अन कोई समस्या आम नागरिक को ग्रामीणों के लिए इन्हें प्राप्त करना टेढ़ी खीर है। खास परस्पर संपर्क मार्ग की बात हो तो दबंग नेताओं के द्वार तक पक्की सड़क बन जाएगी ‌। लेकिन आम ग्रामीणों को यह सुविधा 10 दशकों को बाद भी नहीं मिलेगी‌।

 

ऐसी ही धरना इन दिनों गादीबहिंगा गांव के लोगों में बन चुकी है। यहां के ग्रामीण सोते जागते पक्की सड़क की आस लगाए बैठे हैं लेकिन उन्हें यह आज तक नसीब नहीं हुई है। डुमरिया से कुसुमडीह तक प्रधानमंत्री योजना के तहत सड़क निर्मित है। यहां से एक मार्ग गादी बैहंगा की ओर जाता है लेकिन यह मार्ग कच्चा होने के साथ-साथ खतरनाक गड्ढे युक्त भी है। जिस पर गर्मी ठंड के दिनों में भी आगमन करना खतरनाक रहता है।

 

साइकिल बाइक में आने जाने वाले लोग आए दिन गिरते पड़ते देखे जाते हैं। ऐसे में अब सड़क की मांग को लेकर तीसरा दिन भी मोहनपुर प्रखंड के बीचगढ़ा पंचायत के गादी बैहंगा गांव के ग्रामीण सड़क को लेकर 48 घंटे से अधिक समय बीत जाने के बाद भी धरना प्रदर्शन जारी है।

 

संतोषी दास ,सूरज राउत ,वार्ड सदस्य राजू राउत ,ग्राम प्रधान प्रलाद कुमार ,सुधीर राउत ,ज्योति देवी, कला देवी, बताते हैं कि ग्रामीण ग्राम ग्राम पंचायत द्वारा भी पक्की सड़क निर्माण की दिशा में प्रयास न किए जाने से लेकर आक्रोशित है ग्रामीणों का कहना है कि ग्रामीणों का कहना है कि जनप्रतिनिधि सिर्फ अपने स्वार्थ के लिए ही उनके गांव में आते हैं उनके पास उन्हें देने के लिए शिवाय झूठा आश्वासन के अलावा और कुछ नहीं है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!