Your SEO optimized title

आजादी के बाद से अब तक गांव में पक्की सड़क का नसीब नहीं

 

देश जहां अमृत महोत्सव मना रहे हैं वहीं ग्रामीण पक्की व कच्ची सड़क के लिए तरस रहे हैं

मोहनपुर : प्रखंड क्षेत्र के एक गांव ऐसा भी जो आजादी के बाद अब तक उस गांव में पक्की सड़क तो दूर की बात है कच्ची सड़क का नसीब भी नहीं हो पाई है। जहां देश अमृत महोत्सव माना रहे हैं इस गांव के लोग सड़क के तरस रहे हैं। इस गांव में करीब 600 की आबादी बसी हुई है।

 

मोहनपुर प्रखंड क्षेत्र के सुदूर पंचायत बीचगढ़ा के गादीबहिंगा गांव है इस गांव में अब तक मिट्टी मोरम की सड़क का भी नसीब नहीं हो पाई है ग्रामीणों ने बताया कि हम लोग हर रोज आना-जाना दूसरे के जमाबंदी जमीन से करते हैं जो लगातार हम लोगों को आवागमन बाधित करते रहते हैं।

 

विदित हो कि सभी ग्रामवासी 28 नवंबर 2023 को रात्रि में रिखिया पीडब्लुडी से शुकराहट के बीच बहिंगा के पास सड़क को जाम कर धरने पर बैठ गए। धरने पर बैठने का ग्रामीणों ने बताया की सड़क का काम मजबूतीकरण को लेकर कार्य चल रहे हैं उसी जेसीबी मशीन के द्वारा इस गांव की आने वाली सड़क को कटवा दिया।

 

जिससे ग्रामीण सभी धरने पर बैठकर सड़कों की मांग करने लगे देर रात धरने पर बैठे रहे तो ग्राम पंचायत मुखिया प्रतिनिधि धनेश्वर यादव एवं पंचायत समिति सदस्य प्रतिनिधि अजय कुमार यादव पहुंचे एवं सड़क को दोबारा से जेसीबी भी के द्वारा चालू करवाया।

 

वहीं दूसरे दिन सभी ग्राम गादीबहिंगा के ग्रामीण एकजुट होकर सड़कों की मांग करने लगे इस गांव के चारों ओर जमाबंदी भूमि है जो अलग-अलग गांव के जमीन हैं।इसी को लेकर सुबह से सभी ग्रामीण धरने पर डटे हुए थे। इस दौरान मुखिया प्रतिनिधि श्री धनेश्वर यादव समाज सेवी पप्पू राव पहुंचे एवं सड़क दिलाने की आश्वासन दिया गया।

Leave a Comment

error: Content is protected !!