Your SEO optimized title

प्रबोधिनी एकादशी

पावन पवित्र कार्तिक मास,
शुक्ल पक्ष एकादशी,
प्रबोधिनी एकादशी कहलाती।

भगवान विष्णु की पूजा अर्चना का,
विशेष महत्व, कार्तिक मास में होता। ।

प्रबोधिनी एकादशी को,
श्री हरि विष्णु जागते योग निद्रा से,
देते प्रबोधन चराचर जगत को।
गलती जो हुई हमसे,
प्रायश्चित करो और सुधार करो। ।

विशेष महत्व ग्रंथों पुराणों में,
एकादशी का बतलाया।
उपवास सभी सनातनी करते।
शोक, ताप ,पाप नष्ट हो जाते। ।

मन निगृह का उत्तम मार्ग है उपवास।
प्रबोधिनी एकादशी का व्रत जो करते,
भव बंधन छूट जाते,मन वांछित फल पाते।
सुख- संपत्ति, संतति घर में लाते।।

जिनके घर ऑंगन तुलसी का वास।
मन इच्छा पूरी होती बिना प्रयास। ।

🙏🌹चंद्रकला भरतिया नागपुर🙏

Leave a Comment

error: Content is protected !!