Your SEO optimized title

 

Banka : हस्तिनापुर निवासी एसकेपी विद्या विहार राजपुर प्लस टू आवासीय विद्यालय बांका के जीव विज्ञान शिक्षक सह जिला पर्यावरण विशेषज्ञ प्रवीण कुमार प्रणव दो दिवसीय राष्ट्रीय पर्यावरण सम्मेलन में भाग लेने प्रयागराज जाएंगे। प्रयागराज के संगम तट पर श्री आद्यशंकराचार्य धर्म संसद माघ मेला परिसर में दो दिवसीय राष्ट्रीय प्राकृतिक धर्म मंथन शिविर में प्राकृतिक संरक्षण के लिए कार्य करने वाले देश-प्रदेश के पर्यावरण योद्धाओं का संगम होगा।

 

प्रवीण कुमार प्रणव ने बताया कि पर्यावरण संरक्षण से प्रदूषण नियंत्रण संभव है। पर्यावरण में हो रहे दुष्प्रभाव से तथा दिन-प्रतिदिन प्रदूषण में वृद्धि से मानव सहित अन्य जीवधारियों में बीमारियों की संख्या बढ़ती जा रही है। अधिकांश बीमारियों का मुख्य कारण प्रदूषित हवा, पानी और मिलावटी भोजन सामग्री है। वर्तमान समय में हमारे पर्यावरण में प्राणवायु ऑक्सीजन गैस की मात्रा प्रदूषण के चलते घटती जा रही है।

 

जिससे राजरोग डायबिटीज बीमारी बढ़ती जा रही है। क्योंकि जिस अनुपात में लोग कार्बोहाइड्रेट्स वाले भोजन करते हैं, उस अनुपात में जब प्राणवायु ऑक्सीजन गैस सांस द्वारा नहीं ले पाते तथा साथ- ही -साथ पेंक्रियाज के बीटा कोशिका से इंसुलिन कम निकलने लगता है तो मुश्किलें बढ़ जाती है।हम अपने बीटा कोशिका के उपर हानिकारक चर्बी नहीं बनने दें।अन्यथा इंसुलिन निकलने में परेशानी होगी और डायबिटीज से ग्रसित हो जाएंगे। मैदानी क्षेत्रों में तैंतीस प्रतिशत वन अच्छादित क्षेत्र होना चाहिए और पहाड़ी क्षेत्र में साठ प्रतिशत से कम नहीं रहना चाहिए।

Leave a Comment

error: Content is protected !!