Your SEO optimized title

रक्तदान शिविर में 27 वीं बार रक्तदान किए निलेश जैन

 

 

आरा/भोजपुर। रक्तदान शिविर में 27 वीं बार रक्तदान किए युवा समाजसेवी निलेश जैन तथा उन्होंने बताया कि रक्तदान जीवन दान है इस पुण्यमयी कार्य को अवश्य करें। मैनें आज अपना 27 वीं बार रक्तदान किए बहुत अच्छा लगता है इससे शरीर स्वस्थ रहता है साल में कम से कम 3 से 4 बार रक्तदान अवश्य करना चाहिए।

 

करने में मदद करता है। रक्तदान युवा और स्वस्थ लोग बहुत ही आराम से रक्तदान कर सकते हैं। रक्तदान करने से जरूरत पड़ने पर मरीजों को यह रक्त दिया जा सकता है। हमारा एक दान खतरे में पड़े लोगों की जान बचा सकता है । दर्द रहित और आसान प्रक्रिया में अपना केवल 15 – 20 मिनट का समय और एक यूनिट रक्त दान करके आप एक जीवन रक्षक बन सकते है।

 

ब्लड बैंक में रक्तदान करने से आप जरूरतमंद का जीवन बचा सके है। मूल रूप से 4 ब्लड ग्रुप A, B, O और AB होते हैं। “O+” ब्लड ग्रुप वाले लोगों को अपने आप को बहुत भाग्यशाली समझना चाहिए क्योंकि उन्हें यूनिवर्सल डोनर कहा जाता है और उनका खून किसी भी ब्लड ग्रुप के लोगों की जान बचाने में काम आ सकता है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!