संवाददाता-बबलु कुमार

बोकारो।  जेटीईटी पास 2016 के बोकारो जिला अध्यक्ष रोहित प्रसाद ठाकुर ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए हा कि अभ्यार्थी पास करके शिक्षक नियुक्ति के लिए पिछले 4 वर्षों से इंतजार करते आ रहे हैं। सरकार ईधर कहती है शिक्षा का स्तर अच्छा करना है , सरकार ईधर कहती हैं बच्चों को शिक्षा का रेशियो को अच्छा करना।  सरकार बारंबार प्रेरित करती है सरकारी स्कूल को ठीक करना। जब शिक्षक बनने योग्य जो लोग हैं,  जिनके अन्दर काबिलियत है,  जिनके पास तमाम डिग्रियां हैं तमाम एग्जामिनेशन को जिन्होंने पास किया है उसके बावजूद भी उन्हें शिक्षक बनने से वंचित किया जा रहा है और साथ ही साथ ग्रामीणों के बच्चों के साथ शिक्षा देने से वंचित किया जा रहा है। जब पूर्व में हेमंत सरकार की सरकारें नहीं थी उस वक्त वह विपक्ष में बैठे हुए थे उन्होंने JTET पास 2016 के बच्चों को बराबर निरंतर मिलते  हुए उन्होंने आश्वासन दिया कि हमारी सरकार बनते ही हम लोग अभिलंब शिक्षक की बहाली करेंगे, नियुक्ति करेंगे ताकि झारखंड में बच्चों का भविष्य सुरक्षित रह सके लेकिन उसके पश्चात भी अभी तक झारखंड सरकार की ओर से एक कदम भी नहीं उठाया गया सर्टिफिकेट की वैलिडिटी सिर्फ और सिर्फ 5 वर्षों तक ही होती है। अब केवल सिर्फ और सिर्फ हम लोगों के हाथों में 1 वर्ष ही बचा है, और इस कोरोना महामारी की वजह से ना जाने हम लोगों के भविष्य पर कौन सा ग्रहण आ बैठा है अब तो सरकार के पास भी एक बहाना हो गया है कि इस वैश्विक महामारी के कारण हमारे अर्थव्यवस्था पर बहुत ही असर पड़ा है। तो क्या कोरोना से निजात पाने के लिए शिक्षक की बहाली नहीं करने से कोरोना से निजात पा जाएंगे हम सभी  सरकार से यही मांग करते हैं और निवेदन करते हैं कि जब तक बच्चे शिक्षित नहीं हो जाएंगे बच्चे जब तक पढेंगे नहीं तब तक बच्चे का भविष्य सुरक्षित नहीं रहेगा। हम लोग पूरे झारखंड में लगभग 50 हजार अभ्यार्थी रोजगार की उम्मीद लगा कर बैठे हैं अगर सरकार जल्द हम लोगों के बातों को ध्यान में रखकर अब भी बहाली प्रक्रिया शुरू नहीं करती है तो हम लोग का भविष्य अंधकारमय प्रतीत होता जा रहा है अगर सरकार जल्द बहाली शुरू नहीं करती है तो हम लोग इस वैश्विक महामारी के खत्म होने के बाद आंदोलन करेंगे।  जिला बोकारो अध्यक्ष ने कहा कि टेट पास 2016 अभ्यार्थियों की सीधी नियुक्ति पूर्व नियमावली 2012 के अनुसार सीधी नियुक्ति करे। हमलोगों को आपसे बहुत उम्मीदें हैं। आपसे नम्र निवेदन है कि प्राथमिक शिक्षक की नियुक्ति पूर्व नियमावली के 2012 के तहत सरकार सीधी नियुक्ति अतिशीघ्र करने का कष्ट करें। वहीं प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी जिला अध्यक्ष ने कहा कि मेन्स परीक्षा का हम विरोध करते हैं। जब टेट पास करके सरकारी शिक्षक बहुत से लोग बन गए तो हमलोग टेट के बाद मेन्स परीक्षा क्यो दे। हमलोगों की नियुक्ति पूर्व नियमावली के अनुसार सीधी नियुक्ति किया जाऐ। शिक्षक नियुक्ति होने के बाद ही टेट परीक्षा हो उसके पहले नहीं। 2013 टेट पास अभ्यर्थियों की टेट की सर्टिफिकेट की समय सीमा समाप्त हो गई और 2016 टेट पास अभ्यर्थियों की मात्र एक वर्ष बचा है। अगर सरकार जल्द शिक्षक की बहाली नहीं करती है तो 2016 टेट पास अभ्यर्थियों की भी टेट सर्टिफिकेट की समय सीमा समाप्त हो जायेगी इसलिए हम लोग सरकार से नम्र निवेदन करते हैं कि अतिशीघ्र प्राथमिक शिक्षक की नियुक्ति पूर्व नियमावली के अनुसार सीधी नियुक्ति किजिये।