Your SEO optimized title

संचिका प्राप्त होने की तिथि से तीन दिनों के अभ्यंतर उसका निष्पादन करना सुनिश्चित किया जाए: कुलपति

  • विश्वविद्यालय की कार्यसंस्कृति में सुधार हेतु जारी किए निदेश
  • संचिका प्राप्त होने की तिथि से तीन दिनों के अभ्यंतर उसका निष्पादन करना सुनिश्चित किया जाए: कुलपति

 

मधेपुरा। बीएनएमयू, मधेपुरा में नवनियुक्त कुलपति के योगदान के साथ ही विश्वविद्यालय की कार्यालयी कार्य-संस्कृति में सुधार के आसार नजर आ रहे हैं। उपकुलकचिव (स्थापना) डॉ. सुधांशु शेखर ने बताया कि इस संबंध में कुलपति प्रो. बी. एस. झा के आदेशानुसार कुलसचिव प्रो. मिहिर कुमार ठाकुर ने एक अत्यंत ही महत्वपूर्ण अधिसूचना जारी की है। तदनुसार विश्वविद्यालय के सभी संकायाध्यक्षों, स्नातकोत्तर विभागाध्यक्षों, पदाधिकारियों एवं शिक्षकेत्तर कर्मियों को निदेशित किया गया है कि संचिका प्राप्त होने की तिथि से तीन दिनों के अभ्यंतर उसका निष्पादन करना सुनिश्चित किया जाए। इससे किसी भी व्यक्ति को बेवजह कार्यालय का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा।

 

 

उन्होंने बताया कि कुलपति ने निदेशित किया है कि सभी संचिकाएँ पूर्व निर्धारित व्यवस्था के तहत ही कुलसचिव के माध्यम से कुलपति कार्यालय में उपस्थापित किया जाए। पदाधिकारी एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारी द्वारा कोई भी संचिका व्यक्तिगत रूप से कुलपति के समक्ष उपस्थापित नहीं किया जाए। इसके साथ ही
संचिका में अपनी टिप्पणी के साथ पृष्ठ पर अपना हस्ताक्षर, दिनांक के साथ-साथ अपने नाम एवं पदनाम सुस्पष्ट रूप में अंकित करना सुनिश्चित करने का भी आदेश दिया गया है। इससे कार्यों में पारदर्शिता आएगी।

Leave a Comment

error: Content is protected !!