Your SEO optimized title

बस और कार की आमने-सामने टक्कर से चार की मौत

प्रतापगढ़। तेज रफ्तार रोडवेज बस और कार की आमने सामने भिड़ंत में पिता समेत तीन मासूमों की जिंदगी असमय काल के गाल में समा गई, जब की गंभीर घायल दो मासूम अभी भी अस्पताल में मौत से जूझ रहे है।

 

रफ्तार की कहर ने एक परिवार का न केवल चिराग बुझा दिया बल्कि मां रुखसार को ऐसा जख्म दिया कि वह सिर्फ जिंदा लाश बनकर रह गई है।नियति के इस खेल ने धरती के भगवान डाक्टर को भी बोल्ड कर दिया।

 

नगर कोतवाली सुल्तानपुर के गबड़िया निवासी 40 वर्षीय इमरान अपने परिवार के साथ जेठवारा कोतवाली प्रतापगढ़ के लोकापुर गांव एक वैवाहिक कार्यक्रम में शरीक होने कार से आ रहे थे, रात करीब दस बजे सराय आना देव के पास सामने से आ रही तेज रफ्तार रोडवेज बस से आमने-सामने भिड़ंत हो गई । जिसमें कार के परखच्चे उड़ गए और वह सड़क के दूसरे किनारे जाकर पलट गई।घटना से घबराए ड्राइवर व कंडक्टर बस छोड़कर फरार हो गए।

 

बस की सवारियों की चीख पुकार से आसपास के लोग दौड़कर मौके पर पहुंचे और पुलिस को घटना की सूचना दिया। दुर्घटना में कार सवार इमरान की घटनास्थल पर ही मौत हो थी, जबकि उसकी 5 वर्षीय बेटी आयशा ने जिला अस्पताल पहुंचकर दम तोड़ दिया । मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने घायलों को तत्काल चिकित्सालय भेजवाया।

WhatsApp Image 2023 12 02 at 13.24.00

प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें मेडिकल कॉलेज प्रयागराज रेफर कर दिया गया। घायलों में बेटा जिबरान,असलम ,फरहान , खुशनुमा व भाई सरफराज का इलाज मेडिकल कॉलेज प्रयागराज में चल रहा है। भीषण दुर्घटना में इमरान की पत्नी रुखसार मामूली चोटों के कारण सलामत है।

 

प्रत्यक्ष दर्शियों के अनुसार दुर्घटना इतनी भीषण थी कि कार सवार घायलों को कट्टर एवं जेसीबी की मदद से बाहर निकलना पड़ा। देर से मिली खबर के अनुसार इलाज के दौरान गंभीर घायल दो और मासूमों की सांसे आज रुक गईं। तो अब घटना में जान गवाने वालों की संख्या चार हो गई है ।

Leave a Comment

error: Content is protected !!