Your SEO optimized title

नवादा

नवादा लोकसभा : 1971 में कांग्रेस के सुखदेव प्रसाद कुशवाहा ने विजय पताका लहराया

नवादा लोकसभा : 1971 में कांग्रेस के सुखदेव प्रसाद कुशवाहा ने विजय पताका लहराया

नवादा/आलोक सिन्हा: नवादा ऐतिहासिक जिला है। शहर खुरी नदी के उत्तर में बसा है । गया जिला से 26 जनवरी 1973 को अलग होकर एक नया जिला बना। रामायण और महाभारत काल के कई प्रसंग यहां जनश्रुतियों में आज कहीं और सुनी जाती है। यह महावीर व बुद्ध की धरती है। मगध साम्राज्य का महत्वपूर्ण स्थान रहा है ।अखंड भारत की परिकल्पना और सम्राट अशोक ने सत्ता का संपूर्ण संचालन का केंद्र स्थल मगध को रखा। स्वामी सहजानंद सरस्वती और जयप्रकाश नारायण के कर्मभूमि रही है। नवादा संसदीय ऐतिहासिक के साथ-साथ राजनीति की प्रयोगशाला रही है।यह सीट पर कांग्रेस, बीजेपी और वामपंथी दलों ने अपने-अपने स्तर से प्रयोग किया है।

 

जातिगत समीकरण
नवादा मतदाताओं की कुल संख्या 17लाख 57 हजार 523 है जिनमें लगभग आधे से थोड़ा कम मतदाता युवा है।वही9लाख 16हजार 342 पुरुष और 8लाख 41 हजार 30 महिला तथा थर्ड जेंडर 151 मतदाता है। कुल 1795 मतदान केंद्रो पर मतदान होना है।भूमिहार और यादव बहुत माने जाते हैं।कुशवाहा वोटर निर्णायक होगे।

सुखदेव प्रसाद कुशवाहा का परिचय
सुखदेव प्रसाद वर्मा को सुखदेव प्रसाद कुशवाहा के नाम से जाने जाते हैं ।वे स्वतंत्रता सेनानी और कांग्रेस के नेता थे ।जहानाबाद जिला के रहने वाले थे। वर्तमान समय में उनके पुत्र कृष्ण नंदन वर्मा जद (यू) के नेता है। वे नीतीश सरकार में शिक्षा मंत्री रह चुके हैं ।सुखदेव प्रसाद वर्मा को 1971 में कांग्रेस पार्टी ने जहानाबाद से लाकर नवादा संसदीय क्षेत्र में चुनाव लड़वाया ।चुंकी यहां से निर्दलीय प्रत्याशी महंत सूर्य प्रकाश नारायण पुरी जीते आ रहे थे ।जिन्हे कुशवाहा ने 1971 मे भारी मतों से पराजित किया। उसके बाद 1977 से 2004 तक नवादा संसदीय सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हो गया।

2009 में अनारक्षित होने पर सभी जाति के प्रत्याशी चुनाव लड़े
2008 में हुए परिसीमन से पहले नवादा अनुसूचित जाति के लिए आरक्षण सीट थी ।2009 मे अनारक्षित होने पर सभी जाति के लोग प्रत्याशी बने। जिसमें भोला प्रसाद सिंह भाजपा से जीत दर्ज की। भोला प्रसाद सिंह (बीजेपी ) को130605, बीना सिंह (लोजपा) 95,689 ,राजबल्लभ यादव (निर्दलीय) 78 ,543,कौशल यादव (निर्दलीय) 59382, मसीउहदीन (बसपा )46,528, अनिल मेहता (निर्दलीय) 45000। यहां देखा जाए तो सभी मुख्य जाति के लोग प्रत्याशी बने।
सबसे की बङी बात यह है की जेल में रहते हुए कुशवाहा जाति से आने वाला युवा नेता अनिल मेहता को 45000 वोट मिला। जो वर्तमान समय मे नवादा जिलाध्यक्ष है।ऐसी संभावना थी अगर वह जेल से बाहर होते तो चुनाव परिणाम और बेहतर होता।

 

नवादा संसदीय क्षेत्र से मुख्य मुकाबला भाजपा और राजद मे

नवादा संसदीय क्षेत्र में कुल आठ प्रत्याशी है।जिसमें भारतीय जनता पार्टी से विवेक ठाकुर वही राजद से श्रवण कुशवाहा के बीच है।यहां बताना चाहते हैं कि 1971 के बाद पहली बार किसी राजनीतिक दल ने कुशवाहा समाज को संसदीय सीट से लड़ा रहा है ।यहां की सोशल इंजीनियरिंग मे यादव ,कुर्मी कुशवाहा, मुस्लिम और महादलित का रुख राजद की ओर है।यह मुकाबला चुनाव परिणाम के में देखने को मिलेगा।

पहले चरण में 19 अप्रैल को नवादा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में होगी मतदान

पहले चरण में 19 अप्रैल को नवादा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में होगी मतदान

 

 

  • चुनाव आचार संहिता लागू, डीएम ने प्रेसवार्ता कर कहा निष्पक्ष और भयमुक्त वातावरण में चुनाव कराने को लेकर प्रशासन है कटिबद्ध –
  • पहले चरण में 19 अप्रैल को नवादा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में होगी मतदान –
  • 17 लाख 69 हजार 796 मतदाता करेंगे मताधिकार का प्रयोग –
  • दिव्यांग व 85 वर्ष आयु से अधिक के मतदाताओं को मिलेगा होम वोटिंग की सुविधा –
  • जिले में शांतिपूर्ण मतादान कराने को लेकर डीएम ने किया आम जनता से सहयोग की अपील –
  • जिले में लागू हो गया धारा 144, उलंघन करने वालों पर होगी

 

नवादा : भारत निर्वाचन आयोग द्वारा आसन्न लोकसभा चुनाव 2024 की अधिसूचना जारी होते ही नवादा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में पहले चरण में मतदान होना है। इसको लेकर समाहरणालय स्थित सभागार में डीएम आषुतोष कुमार वर्मा ने प्रेसवार्ता का आयोजन कर कहा कि नवादा लोकसभा में पहले चरण में मतदान किया जाना है, इसको लेकर प्रषासनिक तैयारी तेज कर दी गई है। उन्होंने बताया कि पहले चरण 19 अप्रैल को नवादा लोकसभा में मतदान कराया जाना है, जिसमें 17 लाख 69 हजार 796 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। उन्होंने बताया कि महिला मतदाताओं की संख्या- 8 लाख 49 हजार 457 व पुरूष मतदाताओं की संख्या- 9 लाख 20 हजार 190 है। वहीं थर्ड जेंडर मतदाताओं की संख्या- 149 है। उन्होंने बताया कि 18 से 19 वर्ष आयु के नये मतदाताओं की संख्या- 18 हजार 215 है। जबकि 20 से 29 वर्ष आयु के मतदाताओं की संख्या- 3 लाख 45 हजार 192 है। इसके अलावा 3548 सर्विस वोटर हैं। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि 28 मार्च 2024 से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो जायेगी, नामांकन की समीक्षा 30 मार्च को, उम्मीदवारों की नाम वापसी का अंतिम तिथि 2 अप्रैल निर्धारित है।

 

उन्होंने बताया कि 19 अप्रैल को मतदान होना है और 4 जून 2024 को मतगणना की तिथि निर्धारित है। जिले में मतगणना केंद्र केएलएस कॉलेज को बनाया गया है। बता दें कि नवादा लोकसभा संसदीय क्षेत्र में 6 विधानसभा आता है, जिसमें 235 रजौली, 236 हिसुआ, 237 नवादा, 238 गोविंदपुर, 239 वारिसलीगंज तथा 170 बरबीघा विधानसभा शामिल है। नवादा लोकसभा क्षेत्र में लागू कर दिया गया धारा-144 जिला निर्वाचन पदाधिकारी श्री वर्मा ने बताया कि अधिसूचना जारी होते ही नवादा लोकसभा क्षेत्र में शनिवार की शाम से ही धारा- 144 लागू हो गया है। इसके अंतर्गत भारतीय दंड प्रक्रिया संहिता में वर्णित किसी भी अपराध करने तथा शांति भंग करने के उद्देश्य से पांच या उससे अधिक व्यक्ति किसी भी स्थान पर एकत्रित नहीं होंगें। यह आदेश पूर्व अनुमति प्राप्त सभा/जुलूस या शादी/बारात पार्टी/शव-यात्रा/हाट बाजार/कर्त्तव्य पर तैनात सरकारी कर्मचारी एवं पुलिस बल पर लागू नहीं होगा।

 

कोई भी व्यक्ति आग्नेयास्त्र, तीर-धनुष, लाठी, भाला, गंड़ासा, ईंट-पत्थर एवं मानव शरीर के लिए घातक कोई भी हथियार प्रदर्शन नहीं करेंगे। यह आदेश परम्परागत ढंग से शस्त्र धारण करने वाले समुदाय पर विधि-व्यवस्था एवं निर्वाचन कर्त्तव्य पर लगे दंडाधिकारी/निर्वाचन कर्मियों और पुलिस कर्मियों पर लागू नहीं होगा। यह आदेश जिला दंडाधिकारी द्वारा लोकसभा आम निर्वाचन 2024 के अवसर पर निर्गत किए जाने वाले आदेश पर निर्दिष्ट तिथि को निर्दिष्ट स्थान पर शस्त्र अनुज्ञप्तिधारियों द्वारा शस्त्र निरीक्षण कराने एवं शस्त्र जमा करने के लिए शस्त्र ले जाने वाले अनुज्ञप्तिधारियों पर शिथिल रहेगा। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति ऐसा कोई उत्तेजक नारा नहीं लगायेंगे तथा ऐसा कोई आपत्तिजनक आचरण नहीं करेंगे जो आदर्श आचार संहिता के प्रतिकूल हो। किसी प्रकार का पोस्टर, पर्चा, आलेख तथा फोटो आदि अथवा किसी व्यक्ति विशेष के विरूद्ध अपमानजनक पर्चा, आलेख, फोटो आदि का प्रकाशन नहीं करेंगे या नहीं चिपकायेंगे या नहीं लिखेंगे, जिससे आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन हो।

 

उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति किसी धार्मिक स्थल का उपयोग राजनीतिक प्रचार के लिए नहीं करेंगे एवं धार्मिक आयोजन से साम्प्रदायिक भावना को राजनीतिक हित के लिए नहीं उभारेंगे तथा न ही भड़कायेंगे। कोई भी व्यक्ति मतदाताओं को डराने, धमकाने एवं किसी भी प्रलोभन में लाने का कार्य नहीं करेंगे। किसी भी प्रकार के सभा, जुलूस, धरना या प्रदर्शन तथा ध्वनि विस्तारक यंत्र का प्रयोग बिना सक्षम पदाधिकारी की पुर्वानुमति के आयोजित नहीं होगी। साथ ही उन्होंने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग के द्वारा निरूपित आदर्श आचार संहिता के कोई प्रावधान का उल्लंघन नहीं करेंगे। मतदाता वैकल्पिक फोटो पहचान दस्तावेजों से भी डाल सकेंगे वोट भारत निर्वाचन आयोग द्वारा लोक सभा आम निर्वाचन 2024 के लिए सभी निर्वाचक जिन्हें निर्वाचक फोटो पहचान पत्र जारी किया गया हैं, मतदान स्थल पर अपना मत डालने से पहले अपनी पहचान सुनिश्चित करने के लिए अपना निर्वाचक फोटो पहचान पत्र दिखाने का प्रावधान किया गया है।

 

एसे निर्वाचक जो अपना निर्वाचक फोटो पहचान पत्र प्रस्तुत नहीं कर पाते हैं, तो उन्हें अपनी पहचान स्थापित करने के लिए वैकल्पिक फोटो पहचान दस्तावेजों में से कोई एक दस्तावेज प्रस्तुत करने के लिए प्रावधान भी किया गया है। जिसमें पासपोर्ट, ड्राईविंग लाईसेन्स, राज्य व केन्द्र सरकार के लोक उपक्रम, पब्लिक लिमिटेड कम्पनियों द्वारा अपने कर्मचारियों को जारी किए गए फोटोयुक्त सेवा पहचान-पत्र, बैंकों व डाकघरों द्वारा जारी की गई फोटोयुक्त पासबुक, पैन कार्ड, एनपीआर के अन्तर्गत आरजीआई द्वारा जारी किए गए स्मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, श्रम मंत्रालय की योजना के अन्तर्गत जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, फोटोयुक्त पेंशन दस्तावेज, सांसदों, विधायकों व विधान परिषद सदस्यों को जारी किए गए सरकारी पहचान पत्र, आधार कार्ड तथा सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय द्वारा जारी दिव्यांगजनों के लिए विशिष्ट पहचान पत्र (यूडीआईडी कार्ड) के माध्यम से मतदान कर सकेंगे।

नवादा लोकसभा :लोजपा( रा) के टिकट की रेस में निशिकांत कुशवाहा आगे

नवादा लोकसभा :लोजपा( रा) के टिकट की रेस में निशिकांत कुशवाहा आगे

 

खबरो की तह तक

आलोक सिन्हा

पटना/ संवाददाता। बीते दिन भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से चिराग पासवान की बैठक ने तय कर दिया कि चिराग पासवान राजग गठबंधन के साथ हैं। सूत्र बताते हैं कि चिराग को 5 सीट हाजीपुर सहित दिया गया है। नवादा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र चिराग के खाते में है। नवादा लोकसभा से निवर्तमान सांसद चंदन सिंह है। चंदन सिंह पशुपति पारस के गुट से हैं। यहां बताते चले कि चंदन सिंह लोजपा के राष्ट्रीय नेता सूरजभान सिंह के भाई हैं ।सूरजभान सिंह अपने भाई को टिकट दिलवाने के लिए जी तोड़ प्रयास कर रहे हैं। चंदन सिंह का राजग से उम्मीदवार होना मुश्किल है। निवर्तमान सांसद नवादा से बाहर जिला के हैं।

 

दूसरी ओर लोजपा के राष्ट्रीय नेता डॉ अरुण कुमार जो जहानाबाद के मूल निवासी हैं। उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा से जहानाबाद के सांसद रह चुके हैं। समाजवादी विचारधारा से संबंध रखते हैं। कुछ समय पहले चिराग की पार्टी में शामिल हुए ।लेकिन इस बार नवादा की जनता बाहरी प्रत्याशी बनाए जाने का खिलाफ है। नवादा की जनता नवादा के प्रत्याशी चुनने के मूड में है।

अरुण सिंह
अरुण सिंह
चंदन सिंह
चंदन सिंह
निशिकांत कुशवाहा
निशिकांत कुशवाहा

 

कौन है निशिकांत कुशवाहा?

नवादा जिला के काशीचक प्रखंड के भट्टा गांव के निवासी है। युवा उद्यमी व समाजसेवी हैं। इनका व्यापार गुजरात में है। लेकिन नवादा जिला में सामाजिक गतिविधियों में काफी सक्रिय हैं। कोविड के दौरान जिला प्रशासन के द्वारा आम जनता तक राहत दिया । कोराना काल मे राज्य के बाहर फंसे मजदूरों को वापस लाने मे हर संभव मदद किये। मेधावी छात्रों को प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी मे कोचिंग शुल्क मे मदद करते हैं। प्रतिभा संपन्न छात्रो को टैब, मोबाइल, डिजिटल डायरी व आर्थिक प्रोत्साहन करते है।

 

निशिकांत सिन्हा का पारिवारिक पृष्ठभूमि राजनीति से जुडा है ।इनके दादा स्वर्गीय बिंदा महतो स्वतंत्रता सेनानी के साथ लगातार के मुखिया व प्रखंड प्रमुख के पद पर रहे हैं। समाज में सक्रियता और लोगों के बीच लोकप्रियता के कारण निशिकांत कुशवाहा को लोजपा से प्रत्याशी बनाने की मांग बढ़ गयी है। निशिकांत चिराग के पसंद माने जाते हैं ।

इसके अलावा स्थानीय प्रत्याशी गुंजन सिंह, शिक्षाविद अनुज सिंह आदि लोग प्रत्याशी के कतार मे हैं। सभी का निगाह चिराग पासवान पर है।

नवादा में धूम-धाम से मनाया गया आयरा का 10 वीं वर्षगांठ

नवादा में धूम-धाम से मनाया गया आयरा का 10 वीं वर्षगांठ

 

नवादा: जिले में आयरा पत्रकार संघ की 10वीं वर्षगांठ पुरे धूमधाम से मनाई गई। उक्त मौके पर रजौली अनुमंडल स्थित मां बसंती भवन में मंगलवार को भारत का सबसे बड़ा मीडिया संगठन आईरा एसोसिएशन का दसवां स्थापना दिवस धूमधाम के साथ मनाया गया। दसवें स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित विचार गोष्‍ठी का आगाज दीप प्रज्जवलित कर किया गया।आईरा से जुड़े पत्रकारों ने केक काट कर खुशियां मनाई। इस दौरान संगठन के मजबूती और उसके विस्तार पर चर्चा की गई।

 

प्रखंड व अनुमंडल के पत्रकारों का लिस्ट जारी करने की मांग की गई। इसके अलावे कोष का गठन किया गया। कार्यक्रम के अध्यक्षता कर रहे सनोज कुमार संगम ने बताया कि पत्रकारों को अपने अधिकारों की जानकारी होनी चाहिए। जिस पत्रकार को अपने अधिकारों की ही जानकारी नही होगी, वह पत्रकार फील्ड में जाकर कोई काम नही कर पायेगा। जिलाध्यक्ष सुनील कुमार ने आईरा की स्‍थापना और उद्देश्‍यों के विषय में बताया और कहा कि मात्र दस वर्ष में आईरा ने जो मुकाम हासिल किया है। वो दूसरे संगठन 20 साल में भी नहीं हासिल कर पाते हैं।

 

युवा सम्राट निशिकांत सिन्हा की चिराग से भेंट ने नवादा लोकसभा की सियासी हलचल को बढ़ाया

 

नवादा नगरअध्यक्ष प्रभात दयाल ने बताया कि आईरा एकलौता ऐसा संगठन है, तो निःस्‍वार्थ भाव से बगैर किसी लाभ की अपेक्षा के पत्रकारों के हित के लिये कार्य करता है। संगठन भारत देश का एकमात्र ऐसा संगठन है जो देश के 24 राज्यों में पत्रकारों के लिए कार्य कर रहा है। संगठन में काम न करने वालों की कोई जगह नही है, संगठन में अनुशासन हीनता किसी कीमत पर बर्दाश्त नही की जायेगी। वक्‍ताओं में विजय कुमार ने पत्रकारों के हितों के लिए संगठन की मजबूती सम्‍बन्‍धी कई अहम सुझाव दिए।

 

निजी क्लिनिक में बंध्याकरण के बावजूद महिला हुई गर्भवती

 

आईरा की आगामी योजनाओं तथा कार्यक्रमों के विषय में जानकारी दी। गुड्डू सिंह,उपेंद्र कुमार, नितेश कुमार बंटू, ऋषभ कुमार, विवेक कुमार, रंजीत कुमार, धर्मेद्र कुमार, राकेश कुमार, रंजीत चौधरी सहित कई सदस्य उपस्थित थे।

युवा सम्राट निशिकांत सिन्हा की चिराग से भेंट ने नवादा लोकसभा की सियासी हलचल को बढ़ाया

युवा सम्राट निशिकांत सिन्हा की चिराग से भेंट ने नवादा लोकसभा की सियासी हलचल को बढ़ाया

नवादा/आलोक सिन्हा : लोकसभा के चुनाव के आहट ने राजनीति सरगर्मी तेज कर दिया।लोजपा (रामविलास )के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान से युवा उधमी निशिकांत सिन्हा की औपचारिक भेंट ने नवादा की सियासत को तेज कर दिया। यहां बताते चले की नवादा जिले के काशीचक प्रखंड के भट्टा गावं निवासी एवं गुजरात प्रदेश के बड़े कारोबारी रिच माइंड डिजिटल कम्पनी के निदेशक निशिकांत सिन्हा की चिराग की भेंट कई राजनैतिक इशारे कर रहे हैं। आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर नवादा लोकसभा क्षेत्र से विभिन्न राजनितिक दलों के संभावित चेहरों में निशिकांत सिन्हा का नाम भी जुड़ने लगा हैं।

लेकिन राजनैतिक हलकों में निशिकांत सिन्हा का नाम आने से नवादा की सियासत भी गर्म होती दिख रही है। नवादा का बेटा नवादा का सांसद बनाने की चर्चा भी चौक चौराहे पर होनी प्रारम्भ हो गयी है। लोजपा सुप्रीमो के फैसले पर लोगों की निगाहें भी टिकी हुई है.हालांकि नवादा सीट की दावेदारी को लेकर भाजपा एवं लोजपा में शीत युद्ध भी जारी है। अगर लोजपा के खाते में नवादा की सीट जाती है तो निशिकांत सिन्हा लोजपा के संभावित प्रत्याशी बनाये जा सकते है जैसा की चर्चा हो रही है। अब चेहरों की बात करें तो लोजपा के दावेदारो में पूर्व सांसद डॉ अरुण कुमार की भी चर्चा हो रही थी लेकिन उनकी राजनितिक छवि को लेकर सुप्रीमो कोई रिस्क लेना नहीं चाहते हैं।

 

इधर निशिकांत सिन्हा से चिराग पासवान के भेंट करने के बाद निशिकांत सिन्हा काफी चर्चा मे है।लेकिन अगर नवादा का बेटा नवादा का सांसद की बात होंगी तो इसमें दो चेहरे बाहरी होने के कारण अन्य दो चेहरे की दावेदारी को बल मिल सकता है। निशिकांत सिन्हा ने कोरोना काल में अपने कम्पनी के निजी मद से पांच लाख रूपये की राशि मास्क एवं सेनिटाइजर वितरण के लिए दिया था साथ ही साथ शिक्षा के क्षेत्र में यहां के सैकड़ों विधार्थियो को देश के नामचीन कोचिंग संस्थानों में पढ़ाने में मदद भी किया था।

 

बीते वर्षो के दौरान अगर राजनितिक पृष्ठ भूमि की बात करें तो निशिकांत सिन्हा के दादा स्व बिन्दा महतो स्वतंत्रता सेनानी के साथ पकरीवरावा प्रखंड में 25बर्षो तक मुखिया एवं प्रमुख भी रहे थे.निशिकांत सिन्हा के द्वारा किये गए सामाजिक कार्य काफ़ी चर्चा में रही हैं।ख़ासकर युवाओं में इनके प्रति काफ़ी उत्साह एवं भरोसा भी हैं. इन्होने सामाजिक कार्यों से सभी वर्गो के लोगों को प्रभावित भी किया हैं। इनके व्यक्तित्व और इनके कार्य से प्रभावित होकर लोजपा सुप्रीमो का निर्णय इन्हे काफ़ी हद तक लाभ पहुंचा सकता है।

मूक बधिर युवती के साथ युवक ने किया दुष्कर्म

मूक बधिर युवती के साथ युवक ने किया दुष्कर्म

  • मूक बधिर युवती के साथ युवक ने किया दुष्कर्म, थाना पहुंच युवती ने लगाई न्याय की गुहार
  •  एक सप्ताह पूर्व हुई घटना को पंचायत ने नहीं सुलझाया तब पीड़िता के परिजन पहुंचे थाना

 

 

 

 

नवादा:जिले के उग्रवाद प्रभावित रजौली थाना क्षेत्र के एक गांव में मूक बधिर युवती के साथ बलात्कार किये जाने का मामला प्रकाश में आया। इस मामले को पंचायती में दबाने का प्रयास किया गया, जिसके बाद पीड़िता के साथ उनके परिजन थाना पहुंच न्याय की गुहार लगाई है।बताया जाता है कि एक सप्ताह पूर्व 22 फरवरी को थाना क्षेत्र के एक गांव में मूक बधिर युवती के साथ गांव के ही स्व0 मो0 जैनुल का 40 वर्षीय पुत्र मो0 नैय्यर उर्फ पप्पू ने दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था।

 

परिजनों ने बताया कि उनकी बेटी शाम को घर में अकेली थी, जिसका फायदा उठाकर पड़ोसी ने घर के बगल स्थित बगीचे में लेकर जाकर मुंह काला किया। देर शाम परिजनों द्वारा मूक बधिर युवती की खोजबीन की गई, लेकिन घर एवं आसपास कहीं नहीं पता चला, तब उसे खोजते हुए पीड़िता के पिता एवं भतीजा जब बगीचे में पहूंचे और आपत्तिजनक स्थिति में पीड़िता को देखा, तो वे लोग आग बबूला हो गए।परिजन पीड़िता को घर ले गये, जिसके बाद परिजनों ने उससे इशारों में पूछताछ किया। इस घटना के बाद आसपास के लोग पंचायती कर दुष्कर्म मामले को दबाने का प्रयास किया, परंतु एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी पंचायत में मामला नहीं सुलझ पाया। पंचायती में पंचों की बात मानने को आरोपी तैयार नहीं हुआ। पंचायती के दौरान ग्रामीणों के साथ दबंग दुष्कर्मी मारपीट करने पर उतारू हो गया, तब हारकर पीड़िता के पिता ने अपनी पीड़ित पुत्री के साथ थाने में आवेदन देकर न्याय की गुहार लगायी।

 

 

पीड़िता के पिता ने बताया कि उन्हें पुलिस एवं प्रशासन पर पूरा भरोसा है, उन्हें न्याय जरूर मिलेगा। इस घटना को लेकर थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर राजेश कुमार ने बताया कि मूकबधिर पीड़िता के पिता द्वारा आवेदन प्राप्त हुआ है। प्राप्त आवेदन के आलोक में प्राथमिकी दर्ज कर अग्रेत्तर कार्रवाई की जा रही है, साथ ही पीड़िता की चिकित्सीय जांच व न्यायालय में बयान कलम बंद कराये जाने की बात कही।

वारिसलीगंज में लक्की ड्रा का प्रलोभन देकर साईबर अपराधी करते थे ठगी , 06 साईबर अपराधी गिरफ्ता

वारिसलीगंज में लक्की ड्रा का प्रलोभन देकर साईबर अपराधी करते थे ठगी , 06 साईबर अपराधी गिरफ्ता

 

07 एंड्रॉएड मोबाईल ,सीम ,कीपैड मोबाईल ,कस्टमर डाटा आदि जप्त

 

 

 

निर्भय कुमार 

वारिसलीगंज (नवादा) :नवादा जिले में साईबर अपराध काफी फल- फूल रहा है नवादा जिला पूरी तरह जामताड़ा बन गया है , जहां से अब तक सैकड़ों स्थानीय एवं अंतरराज्यीय साईबर अपराधियों की गिरफ्तारी हो चुकी है।इसी कड़ी में नवादा पुलिस ने वारिसलीगंज थाना क्षेत्र के सिमरीडीह एवं बेलधा ग्राम में छापेमारी करते हुए पुलिस ने 06 साईबर अपराधियों को ठगी (फ्रॉड) करते धर दबोचा है। गिरफ्तार साईबर अपराधियों के पास से कई एंड्रॉएड मोबाईल ,सीम ,कीपैड मोबाईल ,कस्टमर डाटा आदि जप्त किया गया है। वारिसलीगंज थाना परिसर में प्रेस कॉन्फ़ेरेंस आयोजित कर पकरीबरावां डीएसपी महेश चौधरी ने बताया कि यह छापेमारी नवादा पुलिस अधीक्षक अंबरीश राहुल के निर्देश पर थानाध्यक्ष वारिसलीगंज रूपेश कुमार सिन्हा के द्वारा टीम गठित कर किया गया। जिसमें पुलिस पदाधिकारी तथा बल एवं वज्रा टीम के पुलिस पदाधिकारी और चौकीदार को शामिल किया गया।

 

इन साईंबर अपराधियों की हुई गिरफ्तारी :

 

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान डीएसपी महेश चौधरी ने बताया कि इन साईंबर अपराधियों की गिरफ्तारी की गई है ,जिसमें वारिसलीगंज थाना क्षेत्र के संगतपर मुहल्ला निवासी उमेश कुमार उम्र 30 वर्ष पिता राजेंद्र दास ,सिमरीडीह ग्राम के मोहित कुमार 23 वर्ष पिता रामनरेश झा एवं रविकांत कुमार उम्र 22 वर्ष पिता अनिल सिंह, वारिसलीगंज के शैलेश कुमार उम्र 20 वर्ष पिता बालाजीवन राउत एवं ऋषि कुमार उम्र 22 वर्ष पिता सतन राउत तथा बेलधा ग्राम के मुरारी कुमार उम्र 29 वर्ष पिता उमेश सिंह को गिरफ्तार किया गया है।

 

इन सामानों की हुई बरामदगी : 

 

 

पुलिस द्वारा छापेमारी के दौरान गिरफ्तार साईबर अपराधियों के पास से 07एंड्रॉएड मोबाईल फोन ,01 कीपैड मोबाईल ,मोबाईल डाटा रजिस्टर जिसमें नाम ,पता और मोबाईल नंबर अंकित रहता है।

उन्हीं मोबाईल नंबरों पर गिरफ्तार साईबर अपराधियों द्वारा फोन कर लक्की ड्रा का प्रलोभन देकर ठगी के काम करते थे।

प्रशासनिक उदासीनता का दंश झेल रहा वारिसलीगंज का पीडब्ल्युडी के डाकबंगला,कभी हुआ करता था गुलजार, अब बन गया है तबेला

प्रशासनिक उदासीनता का दंश झेल रहा वारिसलीगंज का पीडब्ल्युडी के डाकबंगला,कभी हुआ करता था गुलजार, अब बन गया है तबेला

 

नवादा : जिले के वारिसलीगंज का पीडब्ल्युडी का डाक बंगला विभागीय उपेक्षा का दंश झेल रहा है। कभी इस डाक बंगला में मंत्री, विधान सभा व लोक सभा चुनाव के समय पारा मिलेट्री का वरीय पदाधिकारी के अलावा पर्यवेक्षक का आशियाना हुआ करता था, लेकिन अब यह तबेला बन गया है। वर्ष 2009 में इसी डाकबंगला में प्रशिक्षु एसआई का ठहरने की व्यवस्था किया गया गया था। इस डाक बंगला में वरीय पदाधिकारी समय-समय पर बैठक भी किया करते थे, लेकिन अब इस डाक बंगला का मुख्य द्वारा तक बंद हो गया है तथा वहां का फर्निचर बगैरह टूटकर बिखर गया है। इस डाकबंगला में फिलहाल पानी का भी व्यवस्था नहीं है, जिससे शौचालय और स्नानघर से बदबुदार गंध निकलता है। ऐसा तब हुआ जब इसका देखभाल करने वाला कोई कर्मचारी नहीं रहा।

 

इस डाक बंगला पर असमाजिक तत्व के लोगों का कब्जा हो गया है, जहां वाहन पार्किगं से लेकर घरेलु उपयोग की वस्तु रखने के लिए उपयोग किया जा रहा है। इस बात का खुलासा दो दिनों पूर्व उस वक्त हुआ जब वारिसलीगंज के नव पदस्थापित थानाध्यक्ष को ठहराने के लिए वहां के पुलिस पदाधिकारी डाकबंगला पहुंचे। वारिसलीगंज-नवादा पथ पर प्रखंड मुख्यालय के बगल में स्थित पीडब्ल्युडी विभाग का डाक बंगले का अस्तित्व संकट में है। विभाग की उदासीनता के चलते यहां का डाक बंगला उपेक्षा का शिकार है। वहीं डाक बंगला सरकार के स्वच्छ भारत अभियान की पोल खोल रहा है। अधिकारियों की लापरवाही के चलते जहां परिसर में गंदगी का अंबार लगा हुआ है।

 

वहीं विषैले जीव-जंतु तथा असमाजिक तत्व के लोगों का बसेरा बन गया है। प्रखंड मुख्यालय से सटे दक्षिण तरफ 70 के दशक में पीडब्ल्युडी विभाग द्वारा डाक बंगला व कर्मचारियों के रहने के लिए आवासों का निर्माण कराया गया था। यहां कभी बड़े अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों व विशिष्टजनों का आवागमन लगा रहता था तथा विभागीय कार्यालय भी चलता था। बंगले की देखरेख के लिए तैनात कर्मचारियों व चौकीदार सेवनिवृत हो गए, तब से विभागीय उपेक्षा का दंश झेल रहे डाक बंगले की दशा बद से भी बदतर हो गई।

 

डाक बंगले में एक मुख्य द्वार हैं, इसे हमेशा के लिए बंद कर दिया गया हैं। वारिसलीगंज के भुआलचक गांव निवासी राजद नेता सुरेन्द्र यादव, षाहपुर गांव निवासी सीपीआई नेता अखिलेष सिंह, पूर्व मुखिया सुरेन्द्र सिंह, जदयु नेता सहददेव यादव, मोसमा पंचायत के पैक्स अध्यक्ष सह पूर्व मुखिया मनोज प्रसाद, कुटरी पंचायत के मुखिया अभिनव आनंद तथा वारिसलीगंज नगर परिषद के वार्ड संख्या-21 के पूर्व वार्ड पार्षद निलम देवी सहित अन्य बुद्धिजिबियों ने जिलाधिकारी का ध्यान आकृष्ट कराते हुए डाक बंगले की साफ-सफाई कर कब्जा मुक्त कराने की मांग की है। इस संबंध में पीडब्ल्युडी विभाग के सेवानिवृत कर्मचार शीवन पासवान ने कहा कि विभाग इस ओर जरा सा भी ध्यान नहीं देती है, जिस कारण डाक बंगला की स्थिति जर्जर हो गया है।

कुख्यात ईनामी अपराधी को नवादा पुलिस ने किया गिरफ्तार

कुख्यात ईनामी अपराधी को नवादा पुलिस ने किया गिरफ्तार

 

  • गिरफ्तार अपराधी पर था 15 हजार का ईनाम – पटना जिले के रहने वाला टॉप टेन में शामिल अपराधी को पुलिस ने एनएच 20 से किया गिरफ्तार 
  • गिरफ्तार नीतीश का रह चुका है अपराधिक इतिहास

 

 

 

 

 

नवादा : नवादा जिला के टॉप टेन में शामिल ईनामी अपराधी को नवादा पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। सड़क लूट जैसे घटना को अंजाम देने वाले पटना जिला अन्त्,तर्गत बाढ़ थाना क्षेत्र के दयाचक नया टोला निवासी रामदेव केवट उर्फ अजय केवट के 32 वर्षीय पुत्र नीतीश कुमार को नवादा पुलिस ने एनएच-20 मुफस्सिल थाना क्षेत्र के खरांट मोड़ के स्थित पुल के पास से गिरफ्तार किया है।

 

गिरफ्तार अपराधी पर 15 हजार का ईनाम भी घोषित था। इस संबंध में सोमवार को डीएसपी मुख्यालय कल्याण आनंद ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि 22 अप्रैल 20 23 को रात्रि लगभग 9 बजे नारदीगंज थाना अंतर्गत जफरा रेल पुल के पास अज्ञात अपराधियों के द्वारा सड़क को अवरूद्ध कर हथियार का भय दिखाकर एवं मार-पीटकर दो लोगों से 16 हजार नगद, सोने का चैन, बजरंग बली का लॉकेट, तीन मोबाइल तथा जीविका का बैग सहित आवश्यक कागजात सहित अन्य सामान लूट लिया था।

 

घटना के बाद पीड़ित द्वारा नारदीगंज थाना कांड संख्या-139/23 दर्ज कराया गया था। उन्होंने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर त्वरित कार्रवाई करते हुए तकनीकि अनुसंधान के माध्यम से 11 मई 2023 को घटना में षामिल अप्राथमिकी अभियुक्त नालंदा जिला अंतर्गत हिलसा थाना क्षेत्र के भदौर गांव निवासी चांदो केवट के पुत्र जितेन्द्र केवट तथा जहानाबाद जिला अंतर्गत टेहटा ओपी क्षेत्र के मरसुआ गांव निवासी कामेष्वर केवट के पुत्र विसाल कुमार तथा 18 मई 2023 को गया जिला अंतर्गत बेला थाना क्षेत्र के षेखा बिगहा गांव निवासी सुर्यदेव पासवान के पुत्र अजीत पासवान को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था।

 

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अजित पसवान और विशाल कुमार के पास लूट की गई दो मोबाइल के साथ 4 हजार रूपये बरामद हुई थी। उक्त अप्राथमिकी अभियुक्त के स्वीकारोक्ति बयान में नारदीगंज थाना कांड संख्या 306/23 में अन्य एक अप्राथमिकी अभियुक्त नीतीश कुमार उर्फ भोला केवट को 6 अक्टूबर 2023 को रिमांड किया गया था, तब अप्राथमिक अभियुक्त श्याम केवट 10 जुलाई 2023 को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था। उन्होंने बताया कि एक मात्र फरार अभियुक्त नीतीष कुमार को भी गिरफ्तार कर लिया गया, जिसे सोमवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। डीएसपी श्री आनंद ने बताया कि गिरफ्तार अप्राथमिकी अभियुक्त के द्वारा अपने स्वीकारोक्ति बयान में अपने अपराध एवं घटना में संलिप्तता होने के संबंध में स्वीकार किया गया है।

 

उन्होंने बताया कि इससे पूर्व नीतीष बाढ़ थाना से वर्ष 2020 में तथा मोकामा थाना से वर्ष 2018 में मारपीट एवं हत्या केस में जेल जा चुका हैं। जिले की पुलिस ने एक सप्ताह में सात हत्यारोपी समेत 214 फरार आरापियों को किया गिरफ्तार – 14 अवैध बालू लदा टैªक्टर व 4 बाइक जब्त – ग्यारह सौ लीटर अर्धनिर्मित महुआ षराब विनिष्ट संवाददाता नवादा। जिले में अपराध और अपराधियों पर अंकुष लगाने के उद्देष्य से जिले की पुलिस एसपी अम्बरीष राहुल के दिषा-निर्देष पर छापेमारी अभियन चला रखी है, जिसका परिणाम में पुलिस को मिल रही है।

 

सोमवार को एसपी श्री राहुल ने बताया कि 29 जनवरी से 4 फरवरी 2024 तक जिले की पुलिस ने विषेष छापेमारी अभियान चलाकर विभिन्न थाना क्षेत्र से कुल 214 फरार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि छापेमारी के दौरान पुलिस ने हत्या मामले में 7, हत्या के प्रयास मामले में 50, एससी-एसटी मामले में 2, पोक्सो एक्ट के तहत एक, पुलिस पर हमला करने के मामले में 5, लूट कांड में 2, मद्य निषेध मामले में 38 एवं अन्य मामले में 119 कुल 214 गिरफ्तारियां हुई। वाहन जांच के क्रम में कुल 3 लाख 25 हजार रूपये जुर्माना वसूला गया है। एसपी श्री राहुल ने बताया कि छापेमारी के दौरान जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों से पुलिस ने अवैध बालू लदा ट्रैक्टर 14, बाइक 4, मोबाइल 2, कस्टमर डाटा 5 पेज जब्त किया गया है। इसके अलावा 4 अपहृता तथा एक अपहृत को सकुषल बरामद किया गया है। एसपी ने बताया कि छापेमारी के क्रम में जिले के विभिन्न थाना क्षेत्र से पुलिस ने तीन षराब भट्ठी को ध्वस्त करते हुए तसला 3, चुलाई मषीन एक, गैस चुल्हा एक तथा गैस 5 गैस सिलेंडर जब्त करते हुए 11 सौ लीटर अर्धनिर्मित षराब को विनिष्ट किया है।

 

इसके अलावा 490.3 लीटर देषी तथा 19.2 लीटर विदेषी षराब जब्त किया गया है। एसपी श्री राहुल ने बताया कि नवादा पुलिस के द्वारा इस तरह के क्रुर एवं जघन्य अपराध करने वाले अपराधियों के गिरफ्तारी एवं सजा दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है। अपराध को अंजाम देने के बाद अन्यत्र जगह छुपकर रहने वाले अपराधियों के विरूद्ध नवादा पुलिस लगातार आसूचना संकलन कर रही है तथा कार्रवाई के लिए प्रयासरत है, जो नवादा पुलिस के लिए बड़ी सफलता है।

थानाध्यक्ष आशीष कुमार मिश्रा को समाजसेवियों द्वारा दी गई विदाई

थानाध्यक्ष आशीष कुमार मिश्रा को समाजसेवियों द्वारा दी गई विदाई

 

 

वारिसलीगंज (नवादा): वारिसलीगंज थानाध्यक्ष आशीष कुमार मिश्रा को बुधवार को सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा समारोह पूर्वक विदाई दी गई।
पूर्व शिक्षक सह समाजसेवी डॉक्टर गोविंद जी तिवारी के नेतृत्व में आयोजित विदाई समारोह में विधायक प्रतिनिधि शैलेंद्र सिंह, मुखिया राजकुमार सिंह, नगर कार्यपालक उपेंद्र कुमार सिन्हा, राजद नेता सुरेंद्र यादव विलास कुमार, सकल यादव, अजीत यादव, पप्पू चौधरी आदि की उपस्थिति में थाना अध्यक्ष आशीष कुमार मिश्रा को दुखी मन से लोगों ने फूल माला तथा अंग वस्त्र देकर विदाई दी।

 

उपस्थित लोगों ने कहा कि विदा ले रहे आशीष कुमार मिश्रा हर किसी से हंस-हंसकर बात करते थे। जिससे लोगों को विश्वास ही नहीं होता था कि थाना अध्यक्ष से बात कर रहे हैं या कोई सामान्य व्यक्ति से। कहा की अधिकांश पुलिस वाले अपने कार्य को लेकर व्यस्त होते हैं और गंभीर होते हैं। जबकि आशीष कुमार मिश्रा कठिन से कठिन समय में भी मुस्कुरा कर सभी कार्यों का सफलतापूर्वक निष्पादन करते रहे। कार्यक्रम में इनके द्वारा थाना अध्यक्ष रहते हुए किए गए कार्यों की चर्चा की गई। बता दें कि इनका स्थानांतरण गया जिला कर दिया गया है।

 

मात्र डेढ़ वर्ष के कार्यकाल में कई अनसुलझे मामले को सुलझाया

मात्र डेढ़ साल के कार्यकाल में इनके द्वारा कई उलझे कांडों का उद्वेदन किया गया। बता दें कि वर्तमान थाना अध्यक्ष के कुशल नेतृत्व के कारण कई महत्वपूर्ण कांड को सुलझाने में सफलता प्राप्त हुई। जिसकी चर्चा थाना अध्यक्ष की सफलता के रूप में लोग करते हैं। जिसमें मुख्य रूप से चार साल पहले घटित शिव शंकर सिंह हत्याकांड के मुख्य आरोपी व नाबालिक पुत्री का अपहरण मामले का मुख्य आरोपी मृतक का दामाद को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

 

इस मामले को सुलझाने में पुलिस ने खासी मशक्कत की थी। लेकिन सफलता नहीं मिली थी। वही चंडीपुर गांव के पास अज्ञात के द्वारा युवक की हत्या कर दी गई थी। जिसमें मुकदमा तो जमीन विवाद का हुआ था। लेकिन मात्र कुछ दिनों में ही पुलिस ने असली आरोपी मृतक की पत्नी व उसके दोस्त को पकड़ कर जेल भेज दिया। उसी प्रकार उपेंद्र सिंह हत्याकांड का उद्वेदन करते हुए हत्या में शामिल सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजना थाना अध्यक्ष की सफलता के रूप में देखी जा रही है। साथ ही साइबर अपराधियों के विरुद्ध कई बड़ी कार्रवाई की।

error: Content is protected !!