Your SEO optimized title

चीन

यूएस /चीन के अरबपति परिवार ने बेटी को स्टैनफोर्ड में एडमिशन दिलवाने के लिए 45 करोड़ रु. दिए

यूएस /चीन के अरबपति परिवार ने बेटी को स्टैनफोर्ड में एडमिशन दिलवाने के लिए 45 करोड़ रु. दिए



  • चीन की शेनडोंग बुचंग फार्मा कंपनी के चेयरमैन की बेटी युसी झाओ के एडमिशन का मामला
  • फ्रॉड आरोपी कंसल्टेंट ने युसी की मां से कहा था कि डोनेशन की रकम जरूरतमंद बच्चों के काम आएगी
  • यूएस के हाई-प्रोफाइल एडमिशन घोटाले का खुलासा मार्च में हुआ, 50 लोग गिरफ्तार हुए थे

बीजिंग : चीन के अरबपति परिवार ने बेटी को स्टैनफोर्ड यूनिर्सिटी में दाखिला दिलवाने के लिए कंसल्टेंट को 65 लाख डॉलर (45 करोड़ रुपए) चुकाए. स्टूडेंट का नाम युसी झाओ है. एक रिपोर्ट के मुताबिक युसी झाओ चीन के अरबपति झाओ ताओ की बेटी हैं. ताओ शेनडोंग बुचंग फार्मा कंपनी के चेयरमैन हैं.
युसी की मां ने कहा- कंसल्टेंट ने झूठ बोलकर पैसे लिए
झाओ की मां ने अपने वकील के जरिए बताया कि वह कॉलेज कंसल्टेंट विलियम रिक सिंगर की धोखाधड़ी का शिकार हो गई. उसने सोचा था कि वह यूनिवर्सिटी को डोनेशन दे रही है जो जरूरतमंद बच्चों की स्कॉलरशिप के काम आएगी.
कंसल्टेंट सिंगर अमेरिका के सबसे बड़े कॉलेज एडमिशन घोटाले का मुख्य आरोपी है. इस साल मार्च में घोटाले का खुलासा हुआ था. सिंगर और उसके कई सहयोगी धोखाधड़ी और साजिश रचने के दोषी ठहराए जा चुके हैं. इस महीने सजा का ऐलान किया जाएगा. सिंगर ने मनचाहे कॉलेज में दाखिला दिलवाने के लिए छात्रों के परिजनों से बड़ी राशि ली. उसने कई लोगों से झूठ बोला कि डोनेशन की रकम कॉलेज स्टाफ की सैलरी, स्कॉलरशिप और गेम्स पर खर्च की जाएगी.
झाओ के परिवार पर कोई आरोप नहीं है। अदालत के दस्तावेजों में भी उनका जिक्र नहीं है. लेकिन मार्च में आरोपियों की गिरफ्तारी के वक्त अमेरिकी वकील ने बताया था कि एक परिवार ने आरोपियों को 65 लाख डॉलर दिए थे. यह घोटाले से संबंधित किसी छात्र के परिवार द्वारा दी गई सबसे ज्यादा रकम है. अब यह खुलासा हुआ है कि वह झाओ का परिवार था.
अमेरिकी एजेंसी एफबीआई ने इस मामले में 50 लोगों को गिरफ्तार किया. इनमें से 33 परिजन हैं. जिनमें कई सेलेब्रिटीज, हाई-प्रोफाइल वकील, निवेशक और बड़े अमीर शामिल हैं. इन लोगों ने चुनिंदा कॉलेज में बच्चों को दाखिला दिलवाने के लिए सैंकड़ों डॉलर की रकम चुकाई.



error: Content is protected !!