Your SEO optimized title

पंचायत चुनाव 2021

पीछले दिनों को पछाड़ते हुए पांचवें दिन रिकार्ड 460 लोगों ने विभिन्न पदों पर कराया नामांकन

पीछले दिनों को पछाड़ते हुए पांचवें दिन रिकार्ड 460 लोगों ने विभिन्न पदों पर कराया नामांकन

दर्जनों गाड़ियों के काफिले के तथा घोड़सवार के साथ मुखिया पद पर नामांकन कराने पहुंचे कई संभावित प्रत्याशी

भगवानपुर (बेगूसराय) त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के मद्देनजर शनिवार को पीछले चार दिनों को पछाड़ते हुए पांचवें दिन विभिन्न पदों के लिए 460 लोगों ने कराया नामांकन वहीं आज प्रखंड कार्यालय परिसर सहित पुरे दो वर्ग किलोमीटर के दायरे में भीड़ ही भीड़ देखी गई

आज नामांकन दाखिल करने आये लोगों में कुछ दर्जनों गाड़ियों की काफिला सहित घोड़सवार के साथ पहुंचे थे

आज हुए नामांकन की जानकारी देते हुए प्रखंड निर्वाची पदाधिकारी सह प्रखंड विकास पदाधिकारी मुकेश कुमार ने बताया कि शनिवार को कुल 460 लोगों ने नामांकन दाखिल किया जिसमें मुखिया तथा पंसस के लिए 35 _ 35, सरपंच पद हेतु कुल 20, वार्ड सदस्य पद हेतु 237तथापंच पद हेतु कुल 133 लोगों ने नामांकन दाखिल किया।

भगवानपुर, प्रखंड क्षेत्र में 15 पंचायतों में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के द्वितीय चरण में होने वाले चुनाव को लेकर नामांकन दाखिल करने के पांचवें दिन शनिवार को कुल 460 अभ्यर्थियों ने अपना नामांकन पर्चा दाखिल किया।

जिसमें मुखिया पद के लिए लखनपुर पंचायत से निवर्तमान मुखिया देवानंद पासवान व सुरेंद्र कुमार मोख्तियारपुर पंचायत से निवर्तमान मुखिया सुनीता देवी, महेशपुर पंचायत से निवर्तमान मुखिया चुनचुन देवी व रौशन राय, मेहदौली पंचायत से मुखिया पद हेतु मनीष कुमार, बनवारीपुर पंचायत से निवर्तमान मुखिया प्रतिनिधि पप्पू साह के पुत्रबधू स्वीटी कुमारी, दामोदरपुर पंचायत से मुखिया पद हेतु राफिया तबस्सुम व फरजाना खातून सहित कुल 35 अभ्यर्थियों ने अपना नामांकन पर्चा दाखिल किया।

उक्त जानकारी देते हुए निर्वाची पदाधिकारी सह बीडीओ मुकेश कुमार ने बताया कि ग्राम कचहरी सरपंच पद हेतु रसलपुर पंचायत से निवर्तमान सरपंच चंदन प्रसाद शर्मा व विश्वनाथ ठाकुर, लखनपुर से निवर्तमान सरपंच देवाली पासवान सहित कुल 20 अभ्यर्थियों ने अपना नामांकन पर्चा दाखिल किया। इसी तरह पंसस पद हेतु रसलपुर पंचायत क्षेत्र संख्या 11 से निवर्तमान पंसस टिंकू देवी व चांदनी देवी, दामोदरपुर पंचायत समिति क्षेत्र संख्या 10 से हरिओम कुमार, लखनपुर पंचायत समिति क्षेत्र संख्या 8 से पंकज कुमार , सुबोध कुमारसहित क्षेत्र के विभिन्न पंचायतों से कुल 35 अभ्यर्थियों ने अपना नामांकन पर्चा दाखिल किया। इसी तरह वार्ड सदस्य पद हेतु दामोदरपुर पंचायत से वार्ड संख्या 12 से नीलम देवी, 13 से आलोक भारती सहित कुल 237 व पंच पद हेतु कुल 133 अभ्यर्थियों ने अपना नामांकन पर्चा दाखिल किया है।

पंचायत चुनाव की घोषणा नहीं, लेकिन गांव-घरों में बढ़ने लगी है राजनीतिक सरगर्मी

पंचायत चुनाव की घोषणा नहीं, लेकिन गांव-घरों में बढ़ने लगी है राजनीतिक सरगर्मी

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 संपन्‍न हो चुका है। निर्वाचित विधायकों की शपथ की प्रक्रिया अभी-अभी पूरी हुई है। अब पंचायत चुनाव की आहट आने लगी है। यद्यपि पंचायत चुनाव को लेकर किसी तरह की कोई घोषणा नहीं हुई है। लेकिन बांका जिले के चांदन प्रखंड में पंचायतों की राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है। जिन्‍हें चुनाव लड़ना है वे सक्रिय हो गए हैं। गांव-घर में वे दस्‍तक देने लगे हैं।
गांव में खेलकूद से लेकर भोज तक का हो रहा आयोजन।


चुनाव मैदान में भाग्य आजमाने वाले सक्रिय हुए हैं तो भावी प्रत्याशी, जिला पार्षद, मुखिया, सरपंच, पंचायत समिति सदस्य वार्ड सदस्य, एवं पंच के उम्मीदवारों ने चाय की दुकान, पान की दुकान में जन समर्थन प्राप्त करने हेतु अभी से चाय पान खिला कर अपनी उम्मीदवारी जाहिर करने लगे हैं। कुछ भावी प्रत्याशी उम्मीदवार के समर्थक उनके प्रचार-प्रसार करने में जुट गए हैं। आज मंगलवार चांदन ब्लॉक परिसर इर्द गिर्द चांदन पंचायत के दक्षिणी पंचायत समिति भावी प्रत्याशी मनीष शर्मा, दक्षिणी जिला परिषद भावी उम्मीदवार के पति सह चांदन प्रखंड के दक्षिणी पंचायत के मुखिया उम्मीदवार तुलसी रजक, सिलजोरी पंचायत के के भावी मुखिया प्रत्याशी अर्जुन राय, गौरीपुर मुखिया भावी प्रत्याशी पति, जिला परिषद भावी प्रत्याशी के पति गोविंदास आदि ने अपने समर्थकों के साथ चाय पान दुकान में हुजूम लगा कर चाय पिलाकर जन समर्थन प्राप्त करने हेतु चाय पिलाते नजर आए।

कुछ लोगों ने इस बार चुनाव के लिए चुनाव में खर्च की भी घोषणा कर दी कुछ जनप्रतिनिधि सोशल मीडिया के माध्यम से भी जनता तक पहुंचने का प्रयास चल रहा है। इस क्रम में पंचायतों में तरह तरह के कार्यक्रम कर लोगों तक पहुंचने का प्रयास किया जा रहा है। इसके चलते इन दिनों पंचायतों में भोज, खेल प्रतियोगिता आदि कई तरह के कार्यक्रम हो रहे हैं। इसी क्रम में चांदन पंचायत के पूर्व दक्षिणी पंचायत समिति बैजनाथ प्रसाद यादव ने कुछ अपने चाहते कार्यकर्ताओं के लिए बुधवार को भोज का आयोजन रखा है।

इसमें काफी संख्या में ग्रामीण भाग भी शामिल हो रहे हैं। हालांकि इस बार पुराने रोस्टर के आधार पर चुनाव होनी है। इसलिए पूर्व की तरह इस बार भी पंचायती चुनाव होने की संभावना है। बांका जिले के चांदन प्रखंड में 17 पंचायत है।
इनमें दो उत्तरी- दक्षिणी जिला परिषद, पंचायत स‍मिति व मुखिया पद के लिए है। चांदन प्रखंड के सभी पंचायतों में पंचायत चुनाव को लेकर भावी प्रत्याशियों की संख्या अधिक है। इन लोगों में इस वर्ष नवयुवकों की संख्या अधिक दिख रही है। यानी अब राजनीति में चांदन प्रखंड के नवयुवक भी रुचि ले रहे हैं।

मुखिया चुनाव को लेकर बड़ा फैसला, दो से अधिक बच्चे वाले लोग नहीं लड़ सकेंगे इलेक्शन , आदेश जारी

मुखिया चुनाव को लेकर बड़ा फैसला, दो से अधिक बच्चे वाले लोग नहीं लड़ सकेंगे इलेक्शन , आदेश जारी

कटोरिया/ कुमार उमेश। बिहार पंचायत चुनाव में टू-चाइल्ड पॉलिसी, दो से ज्यादा बच्चे वाले नहीं लड़ेंगे चुनाव : बिहार के साथ साथ देश के कई राज्यों में टू-चाइल्ड पॉलिसी को लागू कर दिया गया हैं। इस पॉलिसी के अनुसार वैसे लोग जिनके दो से अधिक बच्चे हैं। जो पंचायत स्तर का चुनाव नहीं लड़ सकते हैं। इन लोगों को चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य माना जाता हैं। मिली जानकारी के मुताबिक उत्तराखंड, राजस्थान , महाराष्ट्र, गुजरात, तेलंगाना और बिहार में टू-चाइल्ड पॉलिसी लागू हैं।

उत्तराखंड आपको बता दें की उत्तराखंड राज्य सरकार ने उत्तराखंड पंचायती राज्य काननू 2016 में संशोधन कर ये नियम बनाया कि वैसे उम्मीदवार जिनको दो से ज्यादा बच्चे हैं। वे पंचायत चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य माने जाएंगे।महाराष्ट्र मिली जानकारी के मुताबिक महाराष्ट्र में भी जिन लोगों के दो से अधिक बच्चे हैं उनके ग्राम पंचायत और नगर पालिका के चुनाव लड़ने पर रोक है।राजस्थान राजस्थान पंचायती राज कानून 1994 के मुताबिक अगर एक व्यक्ति दो से ज्यादा बच्चे हैं तो वो चुनाव लड़ नहीं सकता है।

गुजरात लोकल अथॉरिटिज एक्ट के अनुसार ऐसे उम्मीदवार जिन्हें दो से ज्यादा बच्चे हैं वे पंचायत, नगरपालिका और नगर निगम का चुनाव लड़ने से अयोग्य हो हैं।मध्य प्रदेश आपको बता दें की मध्य प्रदेश में स्थानीय निकायों के चुनाव के लिए टू चाइल्ड पॉलिसी का नियम 2001 में लागू किया गया था।बिहार आपको बता दें की बिहार में भी टू चाइल्ड पॉलिसी लागू है, लेकिन इसे अभी सिर्फ नगर पालिका चुनावों तक सीमित रखा गया है।

error: Content is protected !!