Your SEO optimized title

हरीश कुमार जोशी अधिवक्ता ने अयोध्या से रामलल्ला के दर्शन कर लौटे

 

Dhanbad : झरिया 24 जनवरी भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता हरीश कुमार जोशी अधिवक्ता ने अयोध्या से रामलल्ला के दर्शन कर लौट कर बताया है की अत्यधिक ठंड और कुहासे के कारण जहां रास्ता दिख नही रहा था सबेरे ट्रेन बस टैक्सी सब बंद होने के कारण प्रतापगढ़ ट्रेन से जाकर गोंडा जाने वाली बस में बैठ कर अयोध्या से 5 किलोमीटर दूर उतर कर रात्रि में 1 बजे पैदल ही अयोध्या की ओर पैदल चल पड़ा पैरो में दर्द होने के कारण धीरे धीरे चल रहा था और कुहासा के कारण कुछ दिख भी नही रहा था।

 

रास्ते में चलते हुवे उन दिनों की याद भी ताजा हो गई जब मुलायम सिंह द्वारा परिंदा भी पर नहीं मार सकता है कहने के बाद भी खेत खलिहान होते हुवे छुपते छिपाते अयोध्या पहुंचे थे रात्रि में 3 बजे सरयू नदी में जाकर स्नान किया झरिया से अयोध्या गए बलदेव पांडेजी से बात की तो उन्होंने कहा इतनी ठंड में स्नान कर रहे हो हम अयोध्या में 4 दिन से है। हमने सरयू नदी में अभी ठंड के कारण स्नान नही किया है।

 

स्नान के बाद सीधे पैदल करीब 2 किलोमीटर दूर स्थित राममंदिर पहुंचे गेट पर सुरक्षा में लगे पुलिस अधिकारी ने बताया 7 बजे सबको जाने की अनुमति मिलेगी लेकिन मेरे विशेष अनुरोध एवम उम्र का ख्याल रखते हुवे पुलिस कर्मियों ने सभी सामान जैसे घड़ी मोबाइल कंघी कलम सब कुछ बाहर लोकर में रख कर जाने की अनुमति दी जैसे तैसे करीब मैन गेट से 1 किलोमीटर पैदल चल कर मंदिर पहुंचा जहां रामलल्ला की प्राणप्रतिष्ठा के बाद आज पहले दिन 23 तारीख को पहली आरती देखने का और रामलल्ला के दर्शन करने का सौभाग्य प्राप्त हूवा।

 

जीवन सफल हो गया वर्षो की तपस्या पूरी हुई। दिन में 7 बजे जब सबको जाने की अनुमति मिली हजारों लोगो का हुजूम उमड़ कर मंदिर पहुंचा जिस प्रकार करसेवा के समय लोगो में अदम्य उत्साह था बाबरी ढांचा गिराने का उससे कई गुना ज्यादा उत्साह लोगो में था रामलल्ला के प्रत्यक्ष दर्शन का साम होते होते 5 लाख से अधिक लोगो ने दर्शन किए मुख्य मंत्री आदित्यनाथ योगी जी को अयोध्या भीड़ को नियंत्रित करने की योजना बनाने आना पड़ा।फिर से सभी राष्ट्र सील कर दिए है ट्रेन बस प्राइवेट गाड़ियों का प्रवेश भी रोक दिया गया है ।

 

संकट मोचन मंदिर में हनुमानजी के दर्शन करने के बाद अयोध्या स्टेशन आया स्टेशन को देख कर लग रहा था जैसे हम किसी एयरपोर्ट पर आए है ।इस प्रकार वाराणसी होते हुवे गंगा सतलज ट्रेन जिसका रूट बदल दिया गया है से आज सुबह धनबाद पहुंचे ।जीवन सार्थक हो गया धन्य हो गया जिसकी प्रतीक्षा थी वह भगवान राम का भव्य मंदिर बन गया और हम रामलल्ला का दर्शन कर कृतार्थ हुवे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!