Your SEO optimized title

भीषण गर्मी व लु से बचाव को लेकर उपायुक्त ने जारी किया आवश्यक दिशा-निर्देश

WhatsApp Image 2019 04 25 at 18.54.20

गर्मी से बचने के लिए ज्यादा-ज्यादा पेयजल का उपयोग करें : उपायुक्त

देवघर/संवाददाता : बढ़ती गर्मी व तेजी से बढ़ते लु के प्रकोप को देखते हुए उपायुक्त-सह-जिला दंडाधिकारी राहुल कुमार सिन्हा ने देवघरवासियों से गर्मी के प्रकोप से बचाव और सावधानी को लेकर कुछ दिषा-निर्देश जारी किये है. इसके अलावे उन्होंने कहा है कि गर्मी के मौसम में छोटी-छोटी असावधानियों से मानव एवं पशुओं की जान जा सकती है. गर्मी के मौसम में गर्म हवा और बढ़ते हुए तापमान से लु लगने का खतरा बढ़ जाता है. ऐसे मंे उन्होंने जिलावासियों से बढ़ती गर्मी से बचाव के लिए दैनिक जीवन में एहतियात बरतने का आग्रह किया है. इसके अलावे उन्होंने विभिन्न विभागों के अधिकारियों को आवष्यक व उचित दिषा-निर्देश दिये है.
इसके अलावा उपायुक्त श्री राहुल कुमार सिन्हा ने बतलाया कि गर्मी के कारण हमारे शरीर में पानी की मात्रा तेजी से कम होती है, इसलिए पूरे दिन भर पर्याप्त मात्रा में पानी पियें, प्यास महसूस न हो तब भी पानी पियें. इससे शरीर का तापमान नियंत्रित रहता है और हम डी-हाइड्रेशन के शिकार होने से बच जाते हैं. धूप में बाहर जाने के दौरान हल्के रंगो के, ढीले फिटिंग के तथा सूती कपड़े पहनें. सुरक्षात्मक चश्में, छाता, पगड़ी, दुपट्टा, टोपी, जूते या चप्पलों का उपयोग करें. यात्रा करते समय पानी जरूर साथ में रखें. यदि आप बाहर काम करते हैं तो टोपी या छाते का उपयोग करें तथा अपने सिर, गर्दन, चेहरे और अंगो पर नम कपडा रखें. शरीर को पुनरू हाइड्रेट करने के लिए ओ.आर.एस. का घोल, घर का बना पेय जैसे लस्सी, नींबू पानी, छाछ आदि का प्रयोग करें. गर्मी के स्ट्रोक, गर्मी के दाने या गर्मी से ऐंठन, कमजोरी, चक्कर आना, सिर दर्द, मितली और दौरे के लक्षणों को पहचानें तथा यदि आप बेहोशी या बीमार महसूस कर रहें हैं तो तत्काल चिकित्सक से परामर्श करें. जानवरों को छाया में रखें ओर उन्हें पीने का पर्याप्त पानी दें. अपना घर ठंडा रखें। दिन के दौरान पर्दे, शटर का उपयोग करें. रात में खिडकियां खुली रखें. पंखों, नम कपड़ों का प्रयोग करें. ठंडे पानी से स्नान करें.
स्कूल संचालकों से भी कहा है कि वे स्कूल वाहनों को छायादार क्षेत्र या शेड के नीचे खड़ा करे. नागरिक दोपहर 12 से 4ः00 बजे के बीच बाहर जाने से बचें. भारी, काले व तंग कपडे पहनने से बचें. तापमान अधिक होने की स्थिति में मेहनत का कार्य करने से बचें. दिन के गर्म समय में खाना पकाने से बचें व खाना बनाते समय दरवाजे और खिड़कियों खोलकर रखें. शराब, चाय, कॉफी और कार्बोनेटेड शीतल पेय से बचें जो शरीर में पानी की कमी करते हैं. उन्होंने कहा कि उच्च प्रोटीनयुक्त व बासी भोजन न खायें. नींबू पानी, प्याज, शरबत, राबड़ी आदि शीतल पेय पदार्थों का अधिक से अधिक सेवन करे.
इसके अलावे उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा द्वारा जिलावासियों से अपील करते हुए कहा है कि बढ़ती गर्मी और लू के प्रभाव को कम करने तथा रोकथाम के लिए निम्नलिखित सावधानियों बरतेंः-
■ सुरक्षा के उपायः
● जहाँ तक संभव हो कड़ी धूप में बाहर न निकलें.
● जितनी बार हो सके पानी पीयें. सफर में अपने साथ पीने का पानी हमेशा रखें. जब भी बाहर धूप में जायें तो हल्के रंग के और ढीले-ढीले सूती कपडे पहने: धूप के चश्मे का इस्तेमाल करें; गमछे या टोपी से अपने सिर को ढकें और हमेशा जूते या चप्पल पहनें.
● अधिक तापमान में कठिन काम ना करें. जहाँ तक संभव हो कडी धूप में बाहर के काम से बचें.
● अगर आपका काम बाहर का है तो टोपी, गमछा, छाते आदि का इस्तामाल जरूर करें और गीले कपड़े को अपने चेहरे, सिर व गर्दन पर रखें.
● हल्का भोजन करें, अधिक पानी की मात्रा वाले फल जैसे तारबूज, खीरा, नींबू, संतरा आदि का सेवन करें तथा ज्यदा प्रोटीन वाले भोजन का सेवन ना करें, जैसे- मांस व मेवे, जो शारीरिक ताप को बढ़ाते हैं.
● घर में बना पेय जल जैसे कि लस्सी, नमक चीनी का घोल, छाछ, नींबू-पानी, आप का पन्ना इत्यादि का नियमित सेवन करें.
● बच्चों और पालतू जानवरों को पार्क किए हुए वाहनों में अकेला ना छोडें.
● जानवरों को छांव में रखें; और उन्हें खूब पानी पीने को दें.
● अपने घर को ठंडा रखें; पर्दे शटर आदि का इस्तेमाल करें. रात में खिड़कियां खुली रखें.
● स्थानीय मौसम के पूर्वानुमान और आगामी तापमान में परिवर्तन के बारे में सतर्क रहें.
● अगर आपकी तबीयत ठीक ना लगे या चक्कर आए तो तुरन्त डाक्टर से सम्पर्क करें.
■लू लगने पर क्या करेंः
● लू लगे व्यक्ति को छांव में लिटा दें. अगर तंग कपडे़ हों तो उन्हें ढीला कर दें अथवा हटा दें.
● ठंडे गीले कपडे़ से शरीर पोछें या ठंडे पानी से नहलायें.
● व्यक्ति को ओ0 आर0 एस0/नीबू पानी/नमक- चीनी का घोल पीने को दें, जो कि शरीर में जल का मात्रा को बढ़ा सके.
● यदि व्यक्ति पानी की उल्टियाँ करे या बेहोश हो, तो उसे कुछ भी खाने व पीने को न दें.
● लू लगे व्यक्ति की हालत में एक घंटे तक सुधार ना हो तो उसे तुरन्त नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में ले जाएँ.
इसके अलावे उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा ने गर्मी से बचाव के लिए जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी को निदेषित किया है कि जिले के विभिन्न प्रखण्डों में जागरूकता को लेकर विषेष प्रचार-प्रसार चालने अभियान चलाने का निर्देश देते हुए प्रगति रिपोर्ट कार्यालय को समर्पित करने को कहा है.

By ख़बरों की तह तक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!